Choose Language:

ज्यादातर मामलों में, लोग लैक्टोज के स्रोतों को खाना कम कर देते हैं या उनसे बचते हैं और उनके बदले वह खाद्य पदार्थ खाते हैं जिनमें लैक्टोज न हो, लेकिन इन लोगों के लिए सबसे बड़ी समस्या यह सुनिश्चित करना होती है कि उन्हें दूध उत्पादों में मिलने वाले पोषक तत्वों का पर्याप्त पोषण मिलता रहे, विशेष रूप से कैल्शियम, मैग्नेशियम , पोटेशियम, प्रोटीन, और रिबोफैवलिन। कैल्शियम महिलाओं के लिए विशेष रूप से महत्वपूर्ण है, क्योंकि यह हड्डियों को मजबूत बनाता है और ऑस्टियोपोरोसिस के जोखिम को कम करता है। इसलिए दूध और दुग्ध उत्पादों के सेवन से बचने की सिफारिश नहीं की जाती है।

लैक्टोज युक्त उत्पाद कम खाने से या पूरी तरह से नहीं खाने का अर्थ है कि आप अपने आहार में कुछ विटामिन और खनिजों की कमी कर रहे हैं और अन्य समस्याएं होने के जोखिम को बढ़ा रहे हैं।

लैक्टेज एंजाइम टैबलेट्स या ड्रॉप्स जैसे लैक्टस के स्रोत उस लैक्टेज की कमी को पूरा करते हैं, जिसे आपकी छोटी आंत उत्पन्न नहीं कर रही है, और इससे आपका शरीर आहार में मिलने वाले किसी भी लैक्टोज युक्त पदार्थ को अधिक आसानी से तोड़कर समस्याओं को कम कर सकता है। इन्हें या तो दूध में मिलाया जा सकता है या फिर लैक्टोज युक्त भोजन खाने से तुरंत पहले लिया जा सकता है। यह जानना महत्वपूर्ण है कि प्रत्येक उत्पाद प्रत्येक व्यक्ति के लिए थोड़ा अलग तरीके से काम करता है। इसके अलावा, उनमें से कोई भी प्रत्येक अंतिम लैक्टोज को नहीं तोड़ पाता है, इसलिए कुछ लोगों को एंजाइम सप्लीमेंट लेने के बाद भी कुछ लक्षण महसूस हो सकते हैं।

लैक्टोज पाचन न होने की समस्या के प्राकृतिक और सुरक्षित उपाय के लिए, यामू टैबलेट्स (लैक्टेज एंजाइम च्यूएबल टैबलेट्स) को भारत में पहली बार पेश किया गया है, जो लैक्टोज को तोड़ने में मदद करती है, और इस तरह लैक्टोज पाचन न होने की समस्या के लक्षणों को दूर करने में सहायक होती है।